Posted By kumard
ब्रेकिंग : हरयाणा सीएम खट्टर ने रोड पर नमाज़ पढ़ने वालों को कुछ ऐसा कहा है कि हिन्दुओं को विश्वास नहीं होगा

कुछ समय पहले गायक सोनू निगम ने ट्विटर पर अपना दर्द बयां करते हुए कुछ ऐसा लिख दिया था जिससे देश के कुछ लोगों बहुत आक्रोश पैदा हुआ था| सोनू ने बतलाया था कि कैसे सुबह 5 बजे अज़ान की आवाज़ की वजह से उनकी नींद ख़राब हो जाती है और उन्ही की तरह कई लोगों को इसी समस्या का सामना करना पड़ता है| इसको लेकर सोनू की बहुत आलोचना की गयी थी मगर उनकी बात का तर्क सही था कि किसी एक धर्म के लिए बाकी लोगों को तकलीफ उठानी पड़े, ये किस हद तक सही है?

Source

अब कुछ इसी तरह के मुद्दे पर हरयाणा की सरकार ने ऐसा सख्त कदम उठाया है कि कुछ लोगों के ये गले नहीं उतरेगा|

हरियाणा के गुरुग्राम में शुक्रवार की नमाज में हिंदूवादी संगठनों द्वारा बाधा पहुंचाए जाने की घटनाओं पर हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर ने टिप्पणी की है। मुख्यमंत्री खट्टर ने रविवार को कहा कि नमाज मस्जिद या ईदगाह के अंदर ही पढ़नी चाहिए।

खट्टर ने कहा इस मामले पर हमारी करीबी नजर है
खट्टर ने कहा, ‘कानून व्यवस्था लागू करना हमारा काम है, आजकल खुले में नमाज ज्‍यादा पढ़ी जा रही है। नमाज सार्वजनिक जगहों पर नहीं, बल्कि मस्जिदों या ईदगाहों में पढ़ी जानी चाहिए।’

इसके बाद सीएम खट्टर ने कहा कि हमारी सरकार मामले पर करीबी नजर रखे हुए है। हालांकि उन्होंने कहा कि जहां पर जगहों की कमी है, वहां सार्वजनिक जगहों की जगह निजी जगहों या घर के अंदर नमाज पढ़नी चाहिए।

यह बात मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने शुक्रवार को शहर में 10 अलग-अलग जगहों पर किसी हिंदू संगठन द्वारा नमाज पढ़े जाने पर रोक लगाने के मामले पर कहा।

बीते शुक्रवार को भी गुरुग्राम में कई इलाकों में नमाज में बाधा पहुंचाए जाने का मामला सामने आया था। शहर के कई इलाकों में भीड़ की ओर से ‘जय श्री राम’ जैसे नारे लगाए गए थे। जिसका वीडियो भी वायरल हुआ था। यह घटनाएं शहर के व्यस्त इलाकों इफको चौक, उद्योग विहार, लेजर वैली पार्क और एमजी रोड पर हुई थीं।

पुलिस के अनुसार, बीते शुक्रवार को अल्पसंख्यक समुदाय के लोग वजीराबाद, अतुल कटारिया चौक, साइबर पार्क, बख्तावर चौक, आदि जगहों पर जुमे की नमाज पढ़ने के लिए जमा हुए थे। जिसके बाद हिन्दूवादी संगठनों के कार्यकर्ताओं ने नमाज में बाधा डालने की मंशा से कथित रूप से ‘जय श्री राम’ और ‘राधे-राधे’ के नारे लगाए।