Posted By kumard
मुठभेड़ में मेजर को लग गयी थी गोली, अब आई ऐसी खबर कि सुनकर…

देश के जवानों ने जम्मू कश्मीर में घूम रहे आतंकियों का जीना हराम कर दिया है. कुछ दिन पहले जवानों ने ऐसा टारगेट बना लिया था कि जिस आतंकवादी का वीडियो सामने आता हैं कुछ दिनों में उसकी लाश को लेकर सेना के जवान देश के सामने आते हैं. इसके बाद से आतंकवादियों में सेना को लेकर दहशत फ़ैल गयी थी. इसी तर्ज पर एक बड़े आतंकी को मौत के घाट उतारने में घायल देश के वीर जवान मेजर रोहित शुक्ला को लेकर बड़ी खबर आई है.


Source
आपको बता दें कि कुछ दिन पहले आतंकी संगठन हिजबुल के शीर्ष कमांडर समीर अहमद भट उर्फ टाइगर ने सेना के मेजर रोहित शुक्ला को चैलेन्ज करते हुए एक वीडियो पोस्ट किया था जिसके बाद शुक्ला ने सोमवार को इस आतंकी को एनकाउंटर में मार गिराया था लेकिन मेजर शुक्ला के हाथ में गोली लगने से वो घायल हो गये थे जिसके बाद उनका सेना के अस्पताल में इलाज चल रहा था. देश भर के लोग उनके लिए दुआएं मांग रहे थे.

देश के लोगों की दुआयें रंग लायी और मेजर शुक्ला की सेहत अब ठीक हो रही हैं. मेजर शुक्ला उत्तराखंड के रहने वाले हैं. आपको जानकर हैरानी होगी कि आतंकी टाइगर ने मेजर शुक्ला को वीडियो के जरिये चैलेन्ज दिया था कि अगर शुक्ला ने पानी माँ का दूध पिया हो तो सामने आकर लड़े जिसके बाद मात्र 18 घंटे के भीतर मेजर शुक्ला ने उसे कुत्ते की मौत मार डाला. इस साहस को देखकरउनकी देशभर में तारीफ हो रही थी. मेजर शुक्ला को गोली लग जाने से देश के लोग परेशान हो गये थे. कई जगहों पर उनके जल्दी स्वस्थ होने के लिए दुआएं मांगी जा रही थी.

आपको बता दें कि मेजर शुक्ला की टीम ने जम्मू कश्मीर में दहशत फैलाने वाले कई आतंकियों को मौत के घाट उतार चुकी है. जिसके लिए उन्हें 27 मार्च को राष्ट्रपति भवन में उन्हें शौर्य चक्र से सम्मानित किया गया था. इसके बाद वो घर गये थे वहां भी स्थानीय लोगों ने शुक्ला का जमकर सम्मान किया था. गोली लगने की खबर जब घर वालो को पहुंची तो बताया गया कि कुछ छोटी चोटें आई हैं और एक ऑपरेशन हुआ है. बाद में शुक्ला के स्वस्थ होने की खबर भी घर वालों को दे दी गयी है.


Source
आपको बता दें कि देश में मोदी सरकार आने के बाद जम्मू में सेना को खुली छूट दे दी गयी है जिसकी वजह से वहां से आतंकियों को लागातार सफाया हो रहा हैं. मेजर के पिता ज्ञानचंद्र शुक्ला ने कहा कि फौज बनी ही हैं लोहा लेने के लिए, सौभाग्य से मेरा बेटा देश की सेवा कर रहा है. आपको जानकर ख़ुशी होगी कि मेजर शुक्ला जल्द ही स्वस्थ होकर फिर उसी जगह पर तैनात हो जायेंगे जहां से उन्होंने एक शौर्य गाथा लिख डाली है.