Posted By Lakhan
राहुल पीएम मोदी को चैलेंज करने चले थे लेकिन संबित जी से ही नहीं निपट आए ! संबित पात्रा ने…

कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष राहुल गाँधी अपने बयानों को लेकर हमेशा से चर्चा में रहे हैं. इस बार भी कुछ ऐसा ही हुआ है कि उनका एक बयान मीडिया में सुर्खियाँ बटोर रहा है. दरअसल, राहुल गाँधी ने कुछ समय पहले कहा था कि “पीएम मोदी संसद में खड़े होने से घबड़ाते हैं.  मोदी जी के सामने मुझे 15 मिनट बोलने दिया जाए तो वह मेरे सामने खड़े नहीं हो पाएंगे.” राहुल के इसी बयान को लेकर भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता संबित पात्रा ने सोमवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में मजेदार बात कही.

Source

संबित पात्रा ने राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए कहा कि “जो व्यक्ति खुद 15 पंक्ति नहीं लिख सकता वो आज कह रहा है कि 15 मिनट बोलने नहीं दिया जा रहा है. जो व्यक्ति बिना मोबाइल में देखे एक मिनट नहीं बोल सकता वह 15 मिनट क्या बोलेंगे.” इसी के साथ संबित पात्रा ने कहा कि “राहुल गांधी एक असफल नेता हैं, इसलिए वे इस प्रकार के मुद्दे उठा रहे हैं. ये संविधान बचाओ नहीं राहुल बचाओ अभियान है. उन्होंने कहा कि राहुल गांधी का ये गुस्सा इसलिए था क्योंकि कहीं न कहीं आज परिवारवाद मात खा रहा है और साधारण जनता सत्ता तक पहुंच रही है.”

Source

राहुल गाँधी अधिकतर अपने भाषण में मोबाइल फोन का इस्तेमाल करते हैं. इतना ही नहीं कभी-कभी तो मंच पर ही उनकी पार्टी के वरिष्ठ नेता उनको भाषण की कुछ बातें बताते हैं. एक बार तो राहुल गाँधी अपनी प्रेस कांफ्रेंस में मीडिया के सामने ही पर्ची का इस्तेमाल करते हुए कैमरे में कैद हो गए.

Source

राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और संघ परिवार पर पर तीखा हमला करते हुए कहा कि मोदी ने देश के संविधान और संवैधानिक संस्थाओं को कमजोर करके तथा देश को जाति धर्म के नाम पर बांटने की कोशिश करके भारत की धर्मनिरपेक्ष एवं सहिष्णु छवि को विदेशों में जबर्दस्त चोट पहुंचायी है. लेकिन शायद राहुल गाँधी को ये नहीं पता कि मोदी सरकार ने अब तक जो महत्वपूर्ण योजनाएं चलाई हैं वह गरीबों के लिए ही हैं.

Source